मकड़ी से जुड़े 27 हैरान करने वाले रोचक तथ्य - Amazing Facts about Spiders in Hindi

spider-facts-in-hindi

1. मकड़ियों की लगभग 46,000 ज्ञात प्रजातियां हैं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है इनकी और भी कई सारी प्रजातियाँ हो सकतीं हैं।

2. एक स्वस्थ पारिस्थितिकी तंत्र के लिए मकड़ियाँ बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। वे हानिकारक कीड़े खाते हैं, पौधों के परागण में सहयोगी होते हैं, और मृत जानवरों और पौधों को मिट्टी में बदलते हैं। वे कई छोटे स्तनधारियों, पक्षियों और मछलियों के लिए एक बहुमूल्य खाद्य स्रोत हैं।

3. मकड़ी के रेशम ग्रन्थि से निकलने वाला रेशम तरल होता है, लेकिन हवा के संपर्क में आते ही यह कठोर हो जाता है। कुछ मकड़ियों के शरीर में सात प्रकार की रेशम ग्रंथियाँ होती हैं, प्रत्येक एक अलग प्रकार का रेशम बनाती हैं - जैसे चिकनी, चिपचिपी, सूखी, या खिंचाव वाली।

4. क्या आपको पता है? मकड़ियां पक्षियों और चमगादड़ों की तुलना में अधिक कीड़े खाते हैं।

5. मकड़ियों के दांत नहीं होते, इसलिए वे अपने भोजन को चबा नहीं पाते हैं। वे अपने खाने को काटते या निगलते नही हैं बल्कि उनके अंदर एक प्रकार के पाचक रस को भरते हैं और फिर उसे चूस लेती हैं।

6. घरों में पाए जाने वाली अधिकांश मकड़ियां बाहर जिन्दा नही रह सकतीं, क्योंकि उन्होंने घर के अंदर अपना जीवन अनुकूलित कर लिया है।

7. मकड़ी के खून का रंग नीला होता है।

8. सभी मकड़ियां के शरीर से रेशे निकलते हैं, लेकिन सभी मकड़ियां जाले नहीं बनाते।

9. अंटार्कटिका को छोड़कर हर महाद्वीप पर मकड़ियाँ पाई जाती हैं।

10. ज्यादातर मादा मकड़ियाँ पुरुष मकड़ियों से बड़ी होती हैं।

11. मकड़ी की एक प्रजाति जिसे डाइविंग बेल स्पाइडर कहा जाता है, अपनी पूरी ज़िन्दगी पानी के अंदर बिताता है। इनकी शरीर की बनावट की वजह से ये ऐसा कर पाते हैं। यह ऑक्सीजन के लिए सतह से हवा के बुलबुले बना कर उन्हें इक्कठा करते हैं और उन्हें अपनी पीठ पर लाद कर रखते हैं।

diving bell spider in hindi


12. कुछ मकड़ियाँ अपने बनाये हुए जाले खा जाती हैं और फिर उनका पुन: उपयोग करती हैं।

13. इनकी संख्या इतनी ज्यादा है की ऐसा माना जाता है की लगभग हर इंसान के तीन फीट की दूरी पर हमेशा एक न एक मकड़ी जरुर होती है।

14. अधिकांश मकड़ियां सिर्फ एक से दो साल तक ही जीवित रहते हैं। हालांकि, कुछ प्रजातियाँ 20 से अधिक वर्षों तक भी जीवित रह सकते हैं।

15. मादा मकड़ी एक समय में 3,000 से अधिक अंडे दे सकती हैं।

16. मकड़ी की मांसपेशियाँ पैरों को अंदर की तरफ तो मोड़ सकती हैं, लेकिन फिर से पैरों को सीधा करने के लिए उसे पानी की तरह एक प्रकार की तरल पैरों में पंप करना पड़ता है। यही वजह है की एक मृत मकड़ी के पैर हमेशा मुड़े हुए होते हैं क्योंकि मरने के बाद उसके शरीर से यह तरल खत्म हो चुका होता है।

17. हम मनुष्यों के शरीर में मांसपेशियां बाहर और हड्डियाँ अंदर की तरफ होती हैं, लेकिन मकड़ियों में यह उल्टा होता है उनके शरीर के अंदरूनी हिस्से में मांसपेशियां होती हैं जबकि कंकाल बाहर की तरफ होता है। एक मकड़ी का कंकाल उसकी मांसपेशियों की सुरक्षा करता है।

18. सैकड़ों साल पहले, लोग अपने घावों पर मकड़ी के जाले लगाते थे क्योंकि उनका मानना ​​था कि यह रक्तस्राव को रोकने में मदद करेगा। अब वैज्ञानिकों ने रिसर्च के बाद यह पता लगाया है कि रेशम में विटामिन-के होता है, जो रक्तस्राव को कम करने में मदद करता है।

19. घरों में रहने वाली मकड़ियों के पैर में छोटे-छोटे बाल होते हैं जिनकी वजह से वे दीवारों में चल सकती हैं। लेकिन घर के बाहर रहने वाली कुछ मकड़ियाँ ऐसी भी होती हैं जो अपने पैर की बनावट की वजह से दीवारों पर नही चढ़ पाती हैं।

20. मकड़ियों को सुनने और सूंघने में उनके पैरों के छोटे-छोटे बाल उनकी मदद करते हैं।

21. अधिकांश मकड़ियों की आठ आंखें होती हैं और वे एक-दुसरे के बहुत नज़दीक होती हैं।

22. क्या मकड़ियाँ जहरीली होतीं हैं? 
अधिकतर मकड़ियों में जहर नही होता लेकिन इनकी कुछ प्रजातियाँ होती हैं जो की विषैले होते हैं और इनके काटने से शरीर में जहर फ़ैल सकता है। हालांकि ऐसी मकड़ियाँ बहुत ही कम पायी जाती हैं।

23. फ़नल वेब स्पाइडर नाम की मकड़ी एक आक्रामक मकड़ी है जो लोगों पर हमला करती है और काटती है। इसका जहर सिर्फ 15 मिनट में जान ले सकता है। लेकिन इससे डरने की जरुरत नही है, क्योंकि अब इसके जहर से बचने के लिए एक एंटीवेनम बना लिया गया है।

24. क्या मकड़ियाँ उड़ सकती हैं?
मकड़ियाँ उड़ नहीं सकते, लेकिन वे कभी-कभी अपने रेशम के माध्यम से झूलते हुए दिखाई देते हैं।

25. सॉल्टिसिड्स (कूदने वाली मकड़ियां) की कुछ प्रजातियाँ ऐसी किरणों को भी देख सकतीं हैं जिन्हें हम मनुष्य अपनी आँखों से नही देख सकते हैं। कुछ को UVA और UVB किरणों को देखने में भी सक्षम होती हैं।

26. मकड़ी के जाले में मक्खियाँ और अन्य कीड़े फंस जाते हैं क्योंकि यह बहुत ही चिपचिपा होता है। ऐसे में आपके दिमाग में एक सवाल यह जरूर आता होगा की आखिर मकड़ियाँ खुद के जाल में क्यों नही फंसते? तो इसका जवाब है की मकड़ी के जाले का हर हिस्सा चिपचिपा नही होता, ये जिससे हिस्से पर बैठतीं हैं उसे अलग प्रकार के रेशम से बनाती हैं जिसमे चिपचिपापन नही होता है।

spider in hindi


27. गोलियत मकड़ी (थेरोफोसा ब्लॉन्डी) विश्व की सबसे बड़ी मकड़ी है। यह 11 इंच तक चौड़ा हो सकता है, और इसके नुकीले पैर एक इंच तक लंबे होते हैं। यह मेंढक, छिपकली, चूहे और यहां तक ​​कि छोटे सांप और पक्षियों का भी शिकार कर सकता है।





Read More

हंस के बारे में 21 रोचक तथ्य - Swan in Hindi

hans-ke-bare-me-rochak-jankaari

दुनिया में छोटे-बड़े, रंग-बिरंगे कई सारे पक्षी हैं जिनमे से एक पक्षी है हंस, जो की बेहद खूबसूरत और समझदार पक्षियों में से एक है। आज हम इसी के बारे में बात करेंगे। यहाँ आज हम आपको हंस के बारे में कुछ रोचक और मजेदार जानकारियाँ देने वाले हैं जिनके बारे शायद आप नही जानते होंगे।

हंस के बारे में दिलचस्प जानकारी - Swan Facts in Hindi

1. आपने सफेद हंस तो जरुर देखा होगा, लेकिन क्या आपको पता है की हंस काले रंग का भी होता है जो की ऑस्ट्रेलिया में पाए जाते हैं।


2. कुल मिलाकर हंस पक्षियों की 6 अलग-अलग प्रजातियां हैं।

3. इनकी काले गर्दन वाली नस्ल भी होती है, जो की दक्षिण-अमेरिकी क्षेत्र में पाए जाते हैं।

4. हंस की अलग-अलग प्रजातियाँ दुनिया के लगभग हर क्षेत्र में पाए जाते हैं। लेकिन अफ्रीका और अंटार्कटिका ऐसी जगहें हैं जहाँ ये पक्षी नही पाए जाते।

5. इनके शरीर पर 25,000 से भी अधिक पंख पाए जाते हैं।


6. हंस सबसे बड़े उड़ने वाले पक्षियों में से एक हैं। इनका वजन 15 किलो तक भी हो सकता है।

7. एक नर हंस का आकार और वजन मादा हंस की तुलना में अधिक होता है।

8. क्या आपको पता है की हंस इस दुनिया के सबसे वफादार प्राणियों में से एक हैं।

9. आपने "दो हंसों का जोड़ा" कहते हुए किसी न किसी को जरुर सुना होगा, दरअसल दो हंसों के जोड़े को प्रेम का प्रतीक माना जाता है क्योंकि ये पक्षी अपने जीवनसाथी से बहुत प्रेम करते हैं और पूरी जिंदगीभर एक दुसरे का  साथ देने की कोशिश करते हैं।


10. लेकिन कई बार यह भी देखा गया है इनके बीच तलाक भी हो जाता है और इसके बाद या जीवनसाथी की मौत हो जाने पर वे आगे की जिन्दगी के लिए दूसरा साथी ढूंढ लेते हैं।

11. एक रिसर्च के अनुसार इनके बीच तलाक होने की सम्भावना केवल 6% होती है

12. ये जीव बहुत ही कम उम्र लगभग 3-4 साल के होते हैं तब से ही प्रजनन करना शुरू कर देते हैं।

13. अगर अण्डों की बात करें तो उन्हें सेने के लिए इन्हें 35-45 दिन लगते हैं।

14. एक मादा हंस 3 से 9 अंडे तक दे सकती है।

15. इस पक्षी की याददाश्त बहुत तेज़ होती है।

16. हंस पक्षी दिखने में शांत होते हैं और पानी पर बहुत ही धीरे-धीरे तैरते हैं लेकिन हवा में ये 60 मील प्रति घंटे (95 किलोमीटर प्रति घंटा) की रफ़्तार से उड़ सकते हैं।

17. एक साथ कई सारे हंस जब समूह में उड़ते हैं तो वे एक वी-आकार में उड़ते हैं।
swan-flying-v-formation

18. हंस को रोटी खिलाने से बचना चाहिए यह उनके पाचन तंत्र के लिए अच्छा नहीं होता। आप उन्हें सलाद, कटा हुआ अंगूर, बिना पका हुआ जई खिला सकते हैं।

19. हंस शिकारियों या किसी भी जानवर से अपने बच्चों की सुरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। किसी दुश्मन या शिकारी को डराने के बाद, वे अपने पंख फड़फड़ाते हैं और इस जश्न में एक-दूसरे को बुलाते हैं।

20. हंस बहुत ही क्रोधी होते हैं, खासकर जब वे अपने अंडों या शिशुओं की रक्षा कर रहे होते हैं। उनके क्षेत्र में प्रवेश करने वाले दुसरे पक्षियों, कुत्तों या इंसानों पर भी हमला कर देते हैं।

21. सन 2001 में, एक हंस ने आयरलैंड में एक व्यक्ति पैर भी तोड़ दिया था। इससे पता चलता है की ये पक्षी कितने आक्रामक हो सकते हैं।
Read More

राजस्थान के बारे में 22 रोचक तथ्य - Rajasthan Facts in Hindi

Rajasthan Facts in Hindi

#1. राजस्थान क्षेत्रफल के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा राज्य है। यह 342,239 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है

#2. राजस्थान के लगभग हर शहर को रंगों के नाम से भी जाना जाता है। जयपुर गुलाबी शहर के नाम से प्रसिद्ध है, उदयपुर सफेद है, जोधपुर नीला और झालावाड़ की पहचान बैंगनी है।

Jodhpur-blue-city-Rajasthan facts in Hindi


#3. राजस्थान राज्य का गठन 30 मार्च 1949 को 22 शाही राज्यों और रियासतों के विलय के बाद हुआ था।

#4. समुद्र तल से 1,722 मीटर ऊपर और अरावली पर्वतमाला के उच्चतम बिंदु पर स्थित, माउंट आबू राजस्थान का एकमात्र हिल स्टेशन है। इस हिल स्टेशन में झरने, झीलें और हरे भरे जंगल हैं जो की इसकी खूबसूरती को कई गुना बढ़ा देते हैं।

#5. राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य होने के अलावा, जैसलमेर भारत का तीसरा सबसे बड़ा जिला है, जिसका क्षेत्रफल 39313 वर्ग किलोमीटर है।

#6. थार रेगिस्तान भारत का सबसे बड़ा रेगिस्तान है जो की भारत और पाकिस्तान के बीच एक सीमा भी बनाता है। रेगिस्तान लगभग 120,000 वर्ग मील का है, जिसका 90% हिस्सा राजस्थान में और बाकी पाकिस्तान में है।

Rajasthan Desert


#7. लूनी नदी भारत की एकमात्र खारी नदी है जो की थार रेगिस्तान से गुजरती है और गुजरात में कच्छ के रण में समाप्त होती है। इसके अलावा यह एकमात्र ऐसी नदी है जो की रेगिस्तान से गुजरती है।

#8. राजस्थान कई सारे प्राचीन किलों का एक शहर है। जयपुर में हवा महल, उदयपुर में लेक पैलेस, जैसलमेर में गोरबंद पैलेस, डूंगरपुर में उदय बिलास पैलेस, जोधपुर में उमीद भवन पैलेस और डेल्हा गढ़ में देवी गढ़ पैलेस जैसे बड़ी संख्या में किले हैं जो की भारत के गौरवशाली प्राचीन इतिहास की निशानियाँ हैं।

#9. किलों की इस श्रंखला में एक किला और है जिसका नाम है भानगढ़ का किला जो की दुनिया की सबसे डरावनी जगहों में से एक है। 17 वीं शताब्दी में भारत के राजघरानों द्वारा इसका इस्तेमाल किया जाता था, लेकिन अब इसे दुनिया की सबसे भुतहा जगहों में से एक माना जाता है। यहां तक ​​कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की तरफ से लोगों को रात में इस किले में प्रवेश करने से मना किया है।

Haunted fort of Bhangarh

#10. राजस्थान के बीकानेर शहर से लगभग 30 किमी दूर देशनोक नामक स्थान में करणी माता मंदिर स्थित है जिसे चूहा मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। मंदिर में लगभग 25 हजार काले चूहे रहते हैं। यहाँ चूहों को बहुत ही शुभ माना जाता है, और भक्त बड़ी श्रद्धा से उन्हें प्रसाद देते हैं। 

#11. जैसलमेर शहर से लगभग 18 किमी दूर, कुलधरा नाम का एक गाँव है जो की कई सारे रहस्यों को अपनेआप में समेटे हुए है। ऐसा माना जाता है कि इस शहर को 1800 के दशक में ग्रामीणों ने छोड़ दिया था। कहा जाता है की एक ही रात में पूरा गाँव खाली हो गया था। इसके पीछे क्या वजह थी यह कोई नही जनता। यहां तक ​​कि आज तक, कोई नहीं जानता कि वे सभी कहां गए।

#12. हमें चीन की दिवार के बारे में तो पता है लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि राजस्थान में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी दीवार है जो की कुंभलगढ़ किले की एक दीवार है। यह 36 किलोमीटर लंबा है।

Kumbhalgarh fort Rajsthan


#13. स्थानीय मान्यता के अनुसार रावण की पत्नी मंदोदरी का जन्म राजस्थान के मन्दौर शहर में हुआ था इसलिए कई लोग रावण को राजस्थान का जमाई भी मानते हैं।

#14. इस प्रदेश में 5 राष्ट्रीय उद्यान हैं जो की भरतपुर बर्ड सेंचुरी, दर्राह नेशनल पार्क, डेजर्ट नेशनल पार्क, सरिस्का टाइगर रिजर्व और रणथंभौर नेशनल पार्क हैं।

National Park Rajasthan Facts in Hindi


#15. अगर धार्मिक स्थलों की बात करें तो अजमेर में ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती दरगाह, बिनगया बौद्ध गुफाएँ, पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर, चित्तौरगढ़ में कीर्ति स्तम्भ, पोखरण में रामदेवरा और कई अन्य लोकप्रिय धार्मिक स्थल शामिल हैं।

#16. क्या आप जानते हैं राजस्थान का हस्तशिल्प बाजार पूरे देश का सबसे महत्वपूर्ण और सबसे बड़ा बाजार है। यहाँ आपको जगह-जगह रंगबिरंगी और सुन्दर कलाकृतियों से सजा हुआ बाजार देखने को मिलेगा।

#17. जयपुर के प्रतिष्ठित ईमारत हवा महल का निर्माण सन 1799 में राजा सवाई प्रताप सिंह द्वारा किया गया था। इस शानदार स्मारक में कुल 953 छोटी खिड़कियां हैं और यही कारण है कि इसे हवा महल कहा जाता है।
Hawa-mahal-Rajasthan facts

#18. इस राज्य के विभिन्न दृश्यों को आप कई सारी बॉलीवुड फिल्मों में देख सकते हैं। यहाँ की एतिहासिक दुर्ग, किलों व भवनों का फिल्मों में बखूबी उपयोग किया जाता है। यह सिर्फ बॉलीवुड ही नही बल्कि हॉलीवुड फिल्मो के लिए भी बेहद पसंद किया जाने वाली फिल्म शूटिंग स्पॉट में से एक है। बाजीराव मस्तानी, मुगल-ए-आजम, पहेली, पीके, रंग दे बसंती, लम्हे, The Dark Knite Rises आदि कई सारी फिल्मों की शूटिंग यहां हुई।

#19. राजस्थान में यूनेस्को द्वारा घोषित 8 विश्व धरोहर स्थल हैं- केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, जंतर मंतर,चित्तौड़गढ़, कुंभलगढ़, रणथंभौर, अंबर फोर्ट, जैसलमेर का किला, गैगरॉन का किला।

#20. अरावली पर्वत भारत का सबसे पुराना पर्वतमाला है यहाँ तक की यह हिमालय से भी पुराना है।

Aravali-parwatmala

#21. राजस्थान कभी दुनिया की सबसे पुरानी सभ्यता, सिंधु घाटी सभ्यता का हिस्सा हुआ करता था। बीकानेर से लगभग 200 किलोमीटर की दूरी पर कालीबंगन में प्राचीन सभ्यताओं से जुडी कलाकृतियों का पता चला है, जो शायद दुनिया के सबसे पुराने हैं।

#22. आधुनिक भारतीय इतिहास में जैसलमेर के एक शहर पोखरण का स्थान बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह 1974 में भारत का पहला परमाणु परीक्षण और 1998 में दूसरा परमाणु परीक्षण स्थल था।
Read More

बैडमिंटन से जुड़े 25+ महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्न - Badminton GK in Hindi


badminton GK in Hindi

1. बैडमिंटन खेल के अविष्कारक कौन है
इसके अविष्कारक का नाम किसी को नही पता। कहा जाता है की इसकी खोज भारत के पुणे शहर में हुई थी और इसलिए उस समय इस खेल को पूना के नाम से जाना जाता था। बाद में यह 1870 में ब्रिटिश अधिकारियों द्वारा विदेश तक पहुँच गया। 1873 में ब्यूफोर्ट के ड्यूक ने इंग्लैंड में बैडमिंटन खेल की शुरुआत की इसलिए उन्हें बैडमिंटन का जनक कहा जाता है, खेल का नाम उसके निवास स्थान बैडमिंटन हाउस से प्राप्त हुआ।

2. बैडमिंटन खेलने वाले मैदान को क्या कहा जाता है?
बैडमिंटन कोर्ट।

3. विश्व स्तर पर प्रथम स्थान हासिल करने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाडी कौन है?
प्रकाश पादुकोण।

4. ऑल इंडिया बैडमिंटन चॅंपियन मे दो बार खेलने वाले भारतीय खिलाड़ी का नाम क्या है?
प्रकाश पादुकोण।

5. ऑल इंग्लेंड बैडमिंटन चॅंपियनशिप्स सिंगल्स फाइनल में दो बार पहुँचने वाले एकमात्र भारतीय खिलाड़ी कौन है?
प्रकाश पादुकोण।

6. बैडमिंटन में विश्व में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाडी कौन है?
सायना नेहवाल।

7. बैडमिंटन कोर्ट का आकार कितना होता है?
डबल्स के लिए 44 X 20 फीट और सिंगल्स के लिए 44 X 17 फीट

8. बैडमिंटन के नेट की ऊंचाई कितनी होती है?
5 फीट।

9. एक शटलकॉक में कितने पंख होते हैं?
एक शटलकॉक में 16 पंख लगाये जाते हैं।

10. बैडमिंटन रैकेट की लंबाई कितनी होती है?
26 इंच।

11. बैडमिंटन को एशियाई खेलों में पहली बार कब शामिल किया गया था?
1974 में पहली बार तेहरान में बैडमिंटन को एशियाई खेलों में शामिल किया गया।

12. कौन से वर्ष में बैडमिंटन को ओलिंपिक खेल में शामिल किया गया?
1992 में।

13. पुराने से समय में बैडमिंटन को किन-किन नामो से जाना जाता था?

  • शटलकॉक
  • पूना 
  • बैटलडोर 

14. सबसे पुराना बैडमिंटन क्लब कौन सा है?
New castle badminton club, इसका निर्माण आर्मस्ट्रांग कॉलेज में 24 जनवरी 1900 में किया गया था।

15. अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन संघ का गठन कब किया गया था?
1934 में।

16. बैडमिंटन मे कितने प्लेयर होते हैं?
2 या 4 खिलाडी, सिंगल्स में एक-एक खिलाडी दोनों तरफ होते हैं और डबल्स में एक टीम में दो खिलाडी होते हैं।

17. साइना नेहवाल ने बैडमिंटन क्यों चुना?
साइना नेहवाल की बायोग्राफी से पता चलता है की पहले वे हैदराबाद में कराटे सीखा करतीं थीं लेकिन एक दिन करतब दिखाने के लिए कराते टीचर ने यह तय किया छात्रों के हाथों के ऊपर से एक मोटरसाइकिल गुजारी जायेगी। लेकिन यह सायना के माता-पिता इसके लिए तैयार नही हुए और उन्होंने कराटे सीखने से मना कर दिया इसके बाद से उनके बैडमिंटन की सफ़र की शुरुआत हुई।

18. बैडमिंटन ओलिंपिक में सिल्वर मैडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाडी कौन हैं?
पी. वी. सिन्धु।

19. ऑस्ट्रेलिया में राष्ट्रमंडल खेलों (Commonwealth Games) में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी कौन हैं?
सईद मोदी।

20. 2001 में ऑल इंग्लैंड ओपन चैंपियनशिप किसने जीता?
पुलेला गोपीचंद।

21. 2015 में पद्मश्री पुरूस्कार प्राप्त करने वाली सबसे कम उम्र की बैडमिंटन खिलाडी कौन है?
पी.वी. सिन्धु।

22. भारत ओपन ग्रांड प्रिक्स गोल्ड टूर्नामेंट किस स्टेडियम में आयोजित किया गया था?
बाबु बनारसी दास इंडोर स्टेडियम।

23. इंडिया ओपन सुपर सीरीज़ बैडमिंटन टूर्नामेंट 2015 में किस खिलाड़ी ने महिला एकल खिताब जीता?
सायना नेहवाल।

24. बैडमिंटन में सबसे ज्यादा ओलंपिक मैडल जीतने वाला देश कौन सा है?
बैडमिंटन ओलिंपिक में अब तक सबसे अधिक 41 मैडल चीन ने जीते हैं, इसके बाद इंडोनेशिया का नाम आता है जिसने इस खेल में अब तक 19 पदक जीते हैं।

25. भारत ने अब तक बैडमिंटन में कितने ओलिंपिक मैडल जीते हैं?
भारत ने अब तक कुल दो पदक जीते हैं जिसमे से एक कांस्य (ब्रोंज) पदक सन 2012 (लन्दन) में सायना नेहवाल द्वारा और एक रजत (सिल्वर) पदक सन 2016 (रियो) में पी.वी सिन्धु द्वारा जीता गया है।

26. दक्षिण कोरिया ने बैडमिंटन में अब तक कितने ओलंपिकपदक जीते हैं?
19 पदक।

Read More

रसायन के ये 25 अनोखे रोचक तथ्य आपको हैरत में डाल देंगे

Chemistry facts in Hindi

आपने अपने स्कूल-कॉलेज में रसायन की पढाई जरुर की होगी, कुछ लोगों के लिए यह विषय काफी सरल है जबकि कुछ लोग ऐसे भी होंगे जो केमिस्ट्री जैसे विषय से दूर भागते हैं क्योंकि उन्हें लम्बे-लम्बे केमिकल फोर्मुले याद रखने में बड़ी परेशानी होती है। रसायन विज्ञान की दुनिया बहुत ही अद्भुत है, हमारे आसपास हो रही घटनाओं, हमारे शरीर के अंदर हो रहे क्रियाओं का हर जवाब रसायन के पास होता है।

आज हम chemistry से जुड़े कुछ ऐसे facts आपके साथ साझा करना चाहते हैं जिनके बारे में आपने कभी स्कूल या कॉलेज में नही पढ़ा होगा। ये कुछ ऐसे मजेदार रोचक तथ्य हैं जो की असल जिंदगी में देखने को मिल सकते हैं।

1. आपके शरीर में मौजूद हाइड्रोजन के अणु 10 अरब साल पुराने हैं जो की ब्रम्हांड की उत्पत्ति के समय पैदा हुए थे।

2. हीरा और ग्रेफाइट दोनों ही सिर्फ कार्बन से बने होते हैं लेकिन फिर भी दोनों के बीच जमीन और आसमान का अंतर है। जहाँ ग्रेफाइट से बना पेंसिल बहुत ही नाजुक होता है वहीं हीरा दुनिया के सबसे कठोर धातुओं में से एक है।

3. ऑक्सीजन का कोई रंग नही होता लेकिन ठोस और तरल ऑक्सीजन का रंग नीला होता है।

4. कांच एक तरल पदार्थ है। हो सकता है आप इस तथ्य पर विश्वास न करें लेकिन यह सच है की कांच के अणु बहुत ही धीमी गति से बहते रहते हैं लेकिन इसके बहाव की गति बहुत ज्यादा धीमी होने की वजह से इसे पूरी तरह से तरल पदार्थ की श्रेणी में नही रखा गया है। इसे अनाकार ठोस (amorphus solid) यानि न ही तरल न ही ठोस की श्रेणी में रखा गया है।

5. लगभग सारे पदार्थ जमने पर सिकुड़ जाते हैं लेकिन पानी एक ऐसा पदार्थ है जिसका आकार जमने पर फ़ैल जाता है।

6. पानी से भरे गिलास में अगर एक चुटकी नमक डाल दिया जाय तो पानी का स्तर 2% तक कम हो सकता है।

7. यदि आप आधा लीटर अल्कोहल और आधा लीटर पानी को एक साथ मिलाएं तो दोनों का मिश्रण एक लीटर नही बल्कि उससे कम होगा।

8. आपको जानकर हैरानी होगी की पानी को एक ही समय पर उबला और जमाया जा सकता है। इस स्थिति को ट्रिपल  पॉइंट कहा जाता है जहाँ पानी अपने तीनो अवस्थाओं (ठोस, द्रव, गैस) में पाया जाता है।

9. इन्सान के शरीर में इतना कार्बन होना की उससे ग्रेफाइट की लगभग 9000 पेन्सिल बनायीं जा सकती है।

10. हमारे वातावरण में मौजूद ऑक्सीजन का 20% हिस्सा अमेज़न की जंगलों से पैदा होते हैं।

11. यदि अंतरिक्ष में पानी को उड़ेल दिया जाय तो वह उबलने लगेगा उसके बाद उसमे से निकलने वाला भाप जमकर बर्फ हो जायेगा।

12. हीलियम को आप ठंडा करके नही जमा सकते इसे जमाने के लिए आपको इस पर बहुत ज्यादा दबाव बनाना पड़ेगा।

13. हीलियम गैस भरा गुब्बारा हवा में उड़ता है क्योंकि यह हवा से भी ज्यादा हल्का होता है।और यही वजह है की इसका उपयोग वयुयान के टायरों को भरने में भी किया जाता है।

14. क्या आप जानते हैं की खारे पानी या समुद्र के पानी को धीरे-धीरे जमाया जाय तो उससे बनने वाला बर्फ नमकीन नही बल्कि शुद्ध पानी वाला होगा।

15. गेलियम एक ऐसा पदार्थ है जो आपकी हथेली की गर्मी से भी पिघल सकता है।

16. क्या आप जानते हैं? झींगा मछली के खून का कोई रंग नही होता लेकिन जब यह हवा के संपर्क में आता है तो इसका रंग नीला हो जाता है।

17. हर इंसान के शरीर में लगभग 250 ग्राम नामक पाया जाता है।

18. क्या आपको पता? मेंढक को कभी पानी पीने की जरुरत नही पड़ती क्योंकि वह अपने शरीर से पानी सोंख लेता है।

19. आपके शरीर में सबसे कठोर रसायन आपके दांतों की परत है।

20. स्वाद पहचानने वाली कलिकाएँ न सिर्फ आपके जीभ में बल्कि आपके गालों में भी पाये जाते हैं।

21. क्या आप जानते हैं की मंगल ग्रह लाल क्यों होता है? क्योंकि इसके सतह पर भारी मात्रा में आयरन ऑक्साइड यानि लोहे पर लगने वाली जंग पायी जाती है।

22. कॉपर ही एक ऐसा धातु है जिसपर बैक्टीरिया नही लगता।

23. 190 डिग्री के तापमान पर हवा तरल में बदल जाता है।

24. पेट में पाया जाने वाला अम्ल स्टील को भी पचा सकता है।

25. -190 डिग्री सेल्सियस में हवा तरल में बदल जाता है।



Read More

बैडमिंटन से जुड़े 10 मजेदार रोचक तथ्य

बैडमिंटन का इतिहास बहुत ही पुराना है प्राचीन समय से ही यह खेल लोगों का मनोरंजन करता आ रहा है। इस खेल को दो खिलाडी या दो टीम आपस में खेल सकते हैं। खिलाडियों के हाँथ में एक रैकेट होता है जिससे शटलकॉक को हिट करके इस खेल को खेला जाता है। आपने भी इस खेल का आनंद उठाया होगा लेकिन आज हम आपको बैडमिंटन के बारे में कुछ रोचक और मजेदार तथ्य बताने वाले हैं जिसे पढने के बाद आप इस खेल के बारे में और भी अधिक जानकारियां प्राप्त कर पाएंगे।
Badminton facts in Hindi

बैडमिंटन की रोचक जानकारियां 

1. इस खेल की शुरुआत कैसे और कहाँ से हुई इसके बारे में कोई पुख्ता प्रमाण नही है लेकिन माना जाता है की भारत में 1500 ईसा पूर्व से ही बैडमिंटन खेला जाने लगा था तब इसे "पूना" के नाम से जाना जाता था क्योंकि इसकी शुरुआत पूना शहर से हुई थी। इसके बाद सन 1870 में भारत में कार्यरत ब्रिटिश अधिकारीयों द्वारा इसे देश से बाहर ले जाया गया। Duke of Beaufort (जिन्हें बैडमिंटन के जनक के नाम से जाना जाता है) को यह खेल बहुत पसंद था और वे अपने साथियों के साथ अक्सर इस खेल को खेला करते थे, धीरे-धीरे यह खेल लोगों के बीच काफी लोकप्रिय होने लगा।

2. रैकेट से खेले जाने वाले खेलों में बैडमिंटन सबसे तेज़ गति से खेला जाने वाला खेल है जहाँ रैकेट से लगने के बाद शटल की रफ़्तार 300 किमी. प्रति घंटे से भी ज्यादा की हो सकती है।

3. बैडमिंटन दुनियाभर में दूसरा सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला खेल है। पसंदीदा खेलों की सूची में पहले स्थान पर फुटबाल है।

4. सन 1992 पहली बार बैडमिंटन को ओलंपिक में शामिल किया गया जिसका पहला मैच बार्सेलोना में हुआ जिसे टीवी पर लगभग 1 अरब से भी ज्यादा लोगों ने देखा इससे आप अंदाज़ा लगा सकते हैं यह खेल कितना लोकप्रिय है।

5. पुराने समय में चीन में पैर से बैडमिंटन खेला जाता था जिसे Ti Zian नाम दिया गया था जिसमे खिलाडी रैकेट की जगह अपने पैर से शटलकॉक को मारता था। यह खेल आज भी चीन में खेला जाता है।

6. बैडमिंटन के शटलकॉक को बत्तख के पंखों से बनाया जाता है। इसका वजन 4.74 से 5.50 ग्राम तक होता है।कहा जाता है की इसके लिए बत्तख के सिर्फ बाएं तरफ के 16 पंखों का ही उपयोग किया जाता है।

7. बैडमिंटन रैकेट का वजन 84 ग्राम से 100 ग्राम तक होता है।

8. अब तक का सबसे छोटा बैडमिंटन मैच सिर्फ 6 मिनट का है जो की Kyung-min (South Korea) और Julia Mann (England) के बीच खेला गया था।

9. Peter Rasmussen (Denmark) और Sun Jun (China) के पास सबसे लम्बे समय 124 मिनट तक मैच खेलने का रिकॉर्ड है।

10. जब से यह ओलंपिक खेलों में शामिल हुआ है तब से 103 पदकों में से 93 पदक एशियाई देशों द्वारा जीते गये हैं।

11. इस खेल में सबसे अधिक सफलता प्राप्त करने वाले देशों में चीन और इंडोनेशिया सबसे आगे हैं जो की बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन के 70% मैच जीत चुके हैं।

12. विश्व बैडमिंटन संघ (Badminton World Federation) की स्थापना 1934 में हुई थी तब इसमें केवल 9 देश शामिल थे लेकिन अब इसमें विश्व के 150 देश शामिल हो चुके हैं।

13. मलेशिया के तन बून हेओंग ने 206 मील प्रति घंटे (331 किमी प्रति घंटे) की रफ़्तार से शटल को हिट करके गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कर लिया है।

14. एक पेशेवर खिलाडी बैडमिंटन के मैदान शटल को हिट करने के लिए 2 फीट की ऊंचाई तक छलांग लगा सकता है। 

15. पुराने समय इस खेल को अलग-अलग नामो से जाना जाता था जैसे बैटलडोर, शटलकॉक आदि। बाद में इसका नाम बैडमिंटन रखा गया यह नाम Duke of Beaufort के निवास स्थान बैडमिंटन हाउस के नाम पर रखा गया।

Read More

स्वामी रामदेव की पतंजलि के बारे में रोचक जानकारियाँ - Patanjali Facts in Hindi

Patanjali facts in Hindi

स्वामी रामदेव की पतंजली को आज कौन नही जानता, दवाइयों से शुरुआत करने के बाद अब कंपनी ने FMCG सेक्टर में कदम रखकर सालों से इस क्षेत्र में अपना दबदबा बनाये रखने वाली कंपनियों को संघर्ष की स्थिति में ला खड़ा किया है। बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण ने न सिर्फ पतंजली को एक ब्रांड बनाया है बल्कि आज पूरे देश में लोगों को अपने खानपान, जीवनशैली और सेहत के प्रति जागरूक करने की कोशिश की है।

आज हम पतंजली आयुर्वेद लिमिटेड कंपनी के बारे में कुछ रोचक तथ्य आपके सामने रखने वाले हैं उम्मीद है आपको इसे पढ़कर पतंजलि के बारे कई सारी जानकारियाँ प्राप्त होंगी।

1. सन 1988 में बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण एक दुसरे से मिले और दोनों ने मिलकर दिव्य फार्मेसी  की स्थापना की जहाँ वे लोगों को योग सिखाते थे और मुफ्त में इलाज करते थे। पतंजलि की शुरुआत सन 2006 में आचार्य बालकृष्ण द्वारा हरिद्वार में की गयी जिसमे बाबा रामदेव ने उनका पूरा सहयोग दिया।

2. ज्यादातर लोगों का यह मानना है की पतंजलि स्वामी रामदेव की कंपनी है लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी की कंपनी में बाबा की हिस्सेदारी 0% है जबकि आचार्य बालकृष्ण के नाम पर 94% शेयर है वहीँ बाकी के 6% शेयर NRI दम्पति सरवन और सुनीता पोद्दार के नाम पर है जिन्होंने पतंजलि को शुरू करने में loan देकर आर्थिक मदद की थी।

3. कंपनी के मुताबिक़ पतंजली की कमाई का 100% हिस्सा समाज सेवा में लगा दिया जाता है यह पैसा किसी व्यक्तिविशेष के लिए नही है।




4. आज पतंजलि देश की सबसे तेज़ गति से प्रगति करने वाली FMCG कंपनी है जो की पिछले 5 सालों से हर साल 50% प्रतिशत की वृद्धि के साथ बढ़ रही है।

5. जहाँ दूसरी कंपनियां अपने उत्पादों के प्रचार-प्रसार के लिए किसी फिल्मी सितारे या सेलेब्रिटी को अपना ब्रांड अम्बेसेडर बनाते हैं वहीँ पतंजलि के ब्रांड अम्बेसेडर स्वयं बाबा रामदेव हैं। कंपनी का कहना है की जब उनके पास पहले से ही विश्वविख्यात और लाखों फोलोवर्स वाले बाबा हैं तो किसी अन्य महंगे सेलेब्रिटी की क्या जरुरत है।

6. पतंजलि के पास स्वयं का एक फ़ूड पार्क है जिसे सन 2009 में 100 एकड़ जमीन पर बनायी गयी है जिसे बनाने में लगभग 500 करोड़ रूपये लगे जिसमे आज लगभग 65,000 लोग काम करते हैं।

7. पतंजलि के पास आज लगभग 1000 से भी ज्यादा उत्पाद, 10,000 स्वदेशी केंद्र, 1,500 आयुर्वेदिक चिकित्सालय, 25,00 आरोग्य केंद्र हैं इसके अलावा देश के हर शहर-गाँव और गली मोहल्ले में हजारों स्टोर बनाये गये हैं।

8. आपने कई लोगों को कहते हुए सुना होगा की पतंजली के सामान महंगे होते हैं लेकिन बाबा रामदेव के मुताबिक पतंजलि के ज्यादातर उत्पाद किसी अन्य ब्रांड की तुलना में 15 से 20% तक सस्ते हैं।

9. कंपनी की कमाई के बारे में बात करें तो सन 2015-16 इसकी आय 5000 करोड़ थी जो की 2016-17 में बढ़ कर 11,526 करोड़ और 2017-18 में 12,000 करोड़ हो गयी अब कंपनी का अगला लक्ष्य 20,000 करोड़ के आंकड़े को पार करने का है।

10. जिस प्रकार नेस्ले की मैगी को पतंजलि की आटा नूडल ने कड़ी टक्कर दी थी ठीक उसी तरह अब Adidas, Nike जैसी कंपनियों को चुनौती देने के लिए पतंजलि की तरफ से तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। टाइम्स ऑफ़ इंडिया को दिए गये इंटरव्यू में बाबा ने साफ़ तौर पर कहा है की अब वे योगा वस्त्र तैयार करने वाले हैं जो की नाइके जैसी sportsware बनाने वाली कंपनियों को कड़ी टक्कर देगी।





Read More