सभी ऋतुओं के नाम हिंदी में - Name of Seasons in Hindi | information and Essay

Name of Seasons in Hindi

आज हम आपको 6 ऋतुओं के नाम (six seasons in Hindi) के बारे में बताने वाले हैं और भारत में पाई जाने वाली इन ऋतुओं की पूरी लिस्ट (Indian seasons name in Hindi list) आपको देने वाले हैं। आप इस आर्टिकल में दिए गये लाइनों का उपयोग ऋतुओं पर निबंध (Essay on Seasons in Hindi) लिखने के लिए भी सकते हैं। 

जैसा की आप जानते हैं की अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार एक वर्ष में 12 महीने होते हैं और 3 प्रकार के मौसम होते हैं:
  1. गर्मी (Summer)
  2. सर्दी (Winter)
  3. बरसात (Rainy seasons) 
लेकिन भारत में कितने प्रकार की ऋतु पाई जाती है? जब हम हिंदी में ऋतुओं की बात करते हैं तो यहाँ पर हिन्दू कैलेंडर यानि विक्रम संवत् में 6 प्रकार के ऋतुएं (six types of seasons in Hindi) पायी जाती हैं जो की कुछ इस प्रकार हैं:
  1. शीत ऋतु या शिशिर ऋतु 
  2. बसंत ऋतु 
  3. ग्रीष्म ऋतु 
  4. वर्षा ऋतु 
  5. शरद ऋतु 
  6. हेमंत ऋतु 
यहाँ एक ऋतु 2 महीने की होती है यानि हिन्दू पंचाग में अंग्रेजी कैलेंडर के 12 महीनो को 2-2 ऋतुओं में बांटा गया है।

भारत के 6 ऋतुओं के नाम - Six Types of Seasons Name in Hindi

 क्र. ऋतुओं के नाम    अंग्रेजी नाम  हिन्दू महीने  अंग्रेजी महीने      
 1
 शीत ऋतु Winter           माघ से फाल्गुन जनवरी-फरवरी 
 2 बसंत ऋतु  Spring     चैत्र से वैशाख  मार्च-अप्रैल 
 3 ग्रीष्म ऋतु  Summer ज्येष्ठ से आषाढ मई-जून
 4 वर्षा ऋतु  Rainy श्रावन से भाद्रपद जुलाई-अगस्त
 5 शरद ऋतु Autumn आश्विन से कार्तिक सितम्बर-अक्टूबर
 6 हेमंत ऋतु  Pre Winter मार्गशीर्ष से पौष नवम्बर-दिसम्बर

ऋतुओं के बारे में जानकारी - Information About Seasons in Hindi

चलिए अब आपको इन मौसमो यानि ऋतुओं के बारे में विस्तार से जानकारी देते हैं। 

शीत ऋतु या शिशिर ऋतु (Winter Season in Hindi):
जनवरी से फरवरी के माह को शीत ऋतु कहा जाता है इस दौरान मौसम बहुत ही ठंडा होता है और कई इलाकों में बर्फ़बारी भी होती है। इस ऋतु में दिन छोटे और रातें लम्बी होती हैं। 

कई लोग इस मौसम को बहुत पसंद करते हैं क्योंकि यह बहुत ही सुहाना होता है और नही बरसात चिंता होती है और न ही गर्मी की। लोग ठंड से बचने के लिए ऊनी कपडे पहनते हैं और रात में कम्बलों में दुबक कर बड़े आराम से सोते हैं। शायद यही वजह है की यह मौसम कई सारे लोगों को पसंद आता है। 

लेकिन अगर हम पहाड़ी इलाकों की बात करें तो वहां हमेशा तापमान कम होता है पर शीत ऋतु में वहां के लोगों को काफी परेशानी होती है क्योंकि ठंडक और भी ज्यादा बढ़ जाती है और कही-कहीं तो बर्फ़बारी भी होती है, नदिया-नाले जमने लगते हैं।

बसंत ऋतु (Spring Season in Hindi):
सर्दी का मौसम बसंत ऋतु में खत्म होता जाता है। इस महीने में प्रकृति में हरियाली दिखाई देने लगती है, पौधों और पेड़ों में नये-नये फूल और पत्ते आते हैं, तितलियाँ खेतों में उडती हैं, कोयल भी मधुर आवाजें निकालतीं हैं। इस मौसम में न तो अधिक ठण्ड होती है और न ही अधिक गर्मी, मौसम खुशनुमा होता है। 

अगर हम अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार देखें तो यह ऋतु मार्च से अप्रैल तक रहती है, वहीँ हिन्दू कैलेंडर में इन दो महीनो को चैत्र और वैशाख कहा जाता है। 

ग्रीष्म ऋतु (Summer Season in Hindi):
बसंत ऋतु जाने के बाद मौसम बदलने लगता है और तापमान बढ़ना शुरू हो जाता है। अप्रैल से ही कुछ गर्मियों का अहसास शुरू हो जाता है और मई-जून के महीने में यह चरम पर पहुँच जाता है। इस ऋतु में दिन की लम्बाई बढ़ जाती है और रातें छोटी हो जाती हैं।

दिन समय तेज धूप दिखाई देता है और गर्म हवाएं भी चलने लगती हैं जिन्हें लू कहा जाता है। नदी, नाले, तालाब आदि सूख जाते हैं।

बच्चों को यह बहुत पसंद होता है क्योंकि इन महीनो में स्कूल-कॉलेज बंद रहते हैं और गर्मियों की छुट्टियाँ शुरू हो जाती हैं। 

वर्षा ऋतु (Rainy Season in Hindi):
श्रावन यानी सावन के महीना आते-आते बरसात शुरू हो जाती है और ग्रीष्म काल में सूखे हुए नदी-तालाब, अलाशय फिर से भरने लगते हैं। जुलाई से शुरुआत होने वाली इस ऋतू का इंतज़ार हर किसान को होता है ताकि वह अपने खेतों में फिर से हल चला कर फसल की बोआई शुरू कर सके। 

भीषण गर्मी के बाद यह मौसम ठंडक और शुकून प्रदान करता है और यह बरसात सिर्फ हम इंसानों के लिए ही नही बल्कि सम्पूर्ण जीव-जंतुओं के लिए आवश्यक है।

शरद ऋतु (Autumn Season in Hindi):

सितम्बर से अक्टूबर तक रहने वाले सीजन को शरद ऋतू कहते हैं। अगर हिन्दू कैलेंडर की बात करें तो यह मौसम आश्विन से कार्तिक तक होता है। वर्षा ऋतू के जाने के बाद यह मौसम आता है और पेड़ों के पत्ते झड़ने शुरू हो जाते हैं इसीलिए इसे पतझड़ का मौसम भी कहा जाता है।

अगर तापमान की बात करें तो इस सीजन में न तो ज्यादा सर्दी होती है और न ही ज्यादा गर्मी, तापमान सामान्य होता है।

हेमंत ऋतु (Pre-Winter Season in Hindi):
हल्के गुलाबी जाड़े का यह मौसम नवम्बर में आता है तब तापमान घटने लगते हैं और यह ऋतू सर्दी के मौसम की शुरुआत करता है। यह दो महीने की अवधि होती है जिसे हिंदी में मार्गशीर्ष और पौष नाम दिया गया है। इस मौसम में पेड़-पौधे हरे-भरे हो जाते हैं। पूरा वातावरण आनंदमय हो जाता है। सुबह-सुबह कोहरे दिखाई देते हैं। लोग घरों के बाहर धुप सकते हैं और मौसम का मज़ा लेते हैं।


आपको यह आर्टिकल (ऋतुओं के नाम हिंदी में - Name of Seasons in Hindi) कैसा लगा जरुर बताएं। आप इसे ऋतुओं पर निबंध (Essay on Seasons in Hindi) लिखने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।
Read More

मुर्गी के बारे में 42 रोचक जानकारी - Essay & Hen Information In Hindi

मुर्गी के बारे में मजेदार रोचक तथ्य - Facts & Information About Hen in Hindi

1. मुर्गियां 24 प्रकार की आवाजें निकालकर एक दुसरे से बात कर सकती हैं और इनके हर एक स्वर का अलग-अलग मतलब होता है।

2. यह भी देखा गया है की मुर्गी अपने पेट में पल रहे चूजे से भी बात करती हैं।

3. जंगली मुर्गियां अपने प्राकृतिक वातावरण में पांच से 11 साल तक जीवित रह सकती हैं।

4. इनकी याददाश्त तेज होती है ये अपनी प्रजाति 100 मुर्गियों को अलग-अलग पहचान सकती हैं। 

5. दुनिया के केवल 2 देशों अंटार्टिका और वैटिकन सिटी में मुर्गियां नहीं पायी जाती हैं।

6. क्या आपको पता है? एक ऐसा भी मुर्गा था जो की बिना सर के 18 महीने तक जीवित था। इसके बारे में आप यहाँ पढ़ सकते हैं: Mike Miracle - एक अनोखा मुर्गा जो बिना सिर के 18 महीनों तक जीवित रहा 

7. मुर्गियाँ खेलना पसंद करती हैं और मौका मिलने पर ये इधर-उधर दौड़ती, कूदती हैं और धूप सेंकना भी इन्हें पसंद है।

8. मुर्गी (Hen) हमारी तरह सारे रंगों को देख सकती है।

9. मुर्गियां नींद में सपने भी देखते हैं और इनके सपने वैसे ही होते हैं जैसे हम इंसानों के होते हैं। वे हमारी तरह नींद के दौरान REM (रैपिड आई मूवमेंट) का भी अनुभव करते हैं।

10. अध्ययनों से पता चलता है कि 90 प्रतिशत मुर्गियां जब अपने प्राकृतिक वातावरण में रहते हैं तब ये शिकारियों के हमले से बच जाती हैं।

11. फार्म में रखे जाने वाले ज्यादातर चूजे कभी अपनी माँ से नही मिल पाते क्योंकि पैदा होते ही उन्हें अलग कर दिया जाता है।

12. मुर्गीयां समय का भी अंदाजा लगा सकतीं हैं इसके लिए वे सूरज की रौशनी का उपयोग करती हैं।

13. दुनिया भर में हर 0.05 सेकंड में औसतन 97 मुर्गियों को मार दिया जाता है।

14. जिस तरह से हम इंसान जब बहुत तनाव में होते हैं तो हमारे बाल झड़ते हैं ठीक इसी तरह तनाव के कारण मुर्गियों के पंख भी  झड़ते हैं। आपके पास पालतू मुर्गियां हैं तो यह जानकारी आपको होनी चाहिए।

About Hen in Hindi - Essay on Hen in Hindi

15. मुर्गी के बारे में क्या आपको यह पता है? मुर्गियों की तीन पलकें होती हैं।

16. मुर्गियों के शरीर में मनुष्यों की तुलना में 15% अधिक पानी होता है।

17. सूर्य की सहायता से ये अपने रास्ते का भी पता लगा सकती हैं इससे इन्हें भोजन और पानी खोजकर वापस आने में परेशानी नही होती।

18. आपको यह जानकर हैरानी होगी की इन्हें धुल से नहाना बहुत पसंद है और इससे इनको फायदा भी मिलता है इससे परजीवी नष्ट हो जाते हैं और इनके पंखों में इंसुलेशन बना रहता है।

19. मुर्गियां पानी में आराम से तैर सकते हैं लेकिन ये आम तौर पर गहरे पानी से बचते हैं।

20. इनके द्वारा सबसे लंबे समय तक उड़ने का रिकॉर्ड 13 सेकंड का है।

21. मुर्गियां सर्वाहारी होते हैं, और एक मुर्गी अपने कच्चे अंडे को भी खा सकती है यदि वह अपने आहार से संतुष्ट नही है।

22. वर्ल्ड रिकॉर्ड के अनुसार एक दिन में मुर्गी द्वारा दिए गए सबसे अधिक अंडों की संख्या 7 है। 

23. वहीँ एक वर्ष में मुर्गी द्वारा दिए गए अधिकतम अंडों की रिकॉर्ड संख्या 371 है।

24. जैसे-जैसे मुर्गियाँ बड़ी होती जाती हैं, वे बड़े अंडे देती हैं, लेकिन अण्डों की संख्या कम होती जाती है।

25. एक मुर्गी को अंडे का उत्पादन करने के लिए केवल 26 घंटे लगते हैं, और अंडे को सेने के लिए 21 दिन लगते हैं।

26. एक मुर्गी को एक दर्जन अंडे देने के लिए लगभग 2 किलो भोजन करना पड़ता है।

27. इनके द्वारा अधिकांश अंडे आमतौर पर सुबह 7 से 11 बजे के बीच दिए जाते हैं।

28. मुर्गियां अपने चूजों को यह भी सिखाती हैं की उन्हें क्या खाना चाहिए और क्या नही खाना चाहिए।

29. मुर्गी के बारे में जानकारी यह भी है की एक शोध में पाया गया है की अगर मुर्गियां शास्त्रीय संगीत सुनती हैं, तो वे बड़े और भारी अंडे दे सकती हैं।

30. कुत्ते और बिल्लियों की तरह एक मुर्गी भी अपना नाम पहचान सकती है।

40. मुर्गियां लगभग 15 किमी की रफ्तार से दौड़ सकती हैं।

41. एक मुर्गे का दिल 220 से 360 बार प्रति सेकंड धड़कता है।

42. जब किसी मुर्गी का सर काट दिया जाता है तो वह बिना सर के एक फूटबाल के मैदान जितना दौड़ सकता है।

मुर्गी के बारे में जानकारी (Hen information in Hindi) पढ़कर कैसा लगा आपको हमें जरुर बताएं। आप चाहें तो इन रोचक जानकारियों और तथ्यों का उपयोग मुर्गी पर निबंध (short essay on hen in hindi) लिखने के लिए भी कर सकते है।

Read More

कुत्ते के बारे में 35 रोचक जानकारी - Essay & Information About Dogs in Hindi

information of dog in hindi

आज हम आपको कुत्ते के बारे में जानकारी देना चाहते हैं ये जानकारियाँ बहुत ही मजेदार और रोचक हैं। आप इन dog information को पालतू जानवर, my favorite pet animal या कुत्ते पर निबंध (Essay on Dog in Hindi) लिखने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।

कुत्ते के बारे में जानकारी - Information of Dog in Hindi

1. कुत्तों के नथुने (नाक) हमेशा गीले रहते हैं और रसायनों के गंध को सूघने में यही इनकी मदद करते हैं।

2. जैसे हम इंसानों के फिंगरप्रिंट अलग-अलग होते हैं ऐसे ही कुत्तों के नाक के प्रिंट भी अपने आप में अलग होते हैं।

3. क्या आप जानते हैं? डूबते हुए टाइटैनिक में कुल 12 कुत्ते थे जिनमे से 3 को बचा लिए गये थे।

4. अत्यधिक गर्मी पड़ने पर और हाँफते समय कुत्ते की सूंघने की क्षमता 40% तक कम हो जाती है।

5. क्या आपको पता है? कुत्ते भेड़ियों के ही वंशज हैं।

6. आपको जान कर हैरानी होगी की कुत्तों की आँखों में तीन पलकें होती हैं जिसमे से दो हमें दिखाई देते हैं लेकिन तीसरा पलक दिखाई नही देता है क्योंकि यह दोनों पलकों के निचे और आँखों के कोने में मौजूद होता है।

7. Bloodhound नाम की प्रजाति के कुत्तों की सूंघने की क्षमता इतनी अधिक होती है की इन्हें कोर्ट में सबूत के तौर पर उपयोग किया जा सकता है। 

8. ब्लडहाउंड कुत्ते किसी अपराधी के 300 घंटे पुराने ट्रैक्स को पहचान सकता है और यही नही उस ट्रैक को 200 किमी तक पीछा भी कर सकता है। 

9. विश्व का सबसे लम्बा कुत्ता कौन सा है? Great Dane प्रजाति के कुत्ते सबसे लम्बे माने जाते हैं। वैसे तो इस प्रजाति के कुत्ते 28-30 इंच ऊँचे होते हैं लेकिन इसी प्रजाति का Zeus नाम का एक कुत्ता विश्व के सबसे ऊँचे कुत्ते का रिकॉर्ड बना चुका है इसकी ऊंचाई 44 इंच है।

विश्व का सबसे लम्बा कुत्ता (Zeus)


10. कुत्तों को लुका-छिपी का खेल बहुत पसंद है।

कुत्तों से जुड़े रोचक तथ्य - Essay on dog in Hindi

11. इनके सूंघने की क्षमता हम इंसानों से 10000 गुना अधिक होती है।

12. ग्रेहाउंड प्रजाति का कुत्ता लम्बी दूरी के रेस में चीते को भी पीछे छोड़ सकता है। इस प्रजाति को विश्व का सबसे तेज कुत्ता माना जाता है इसकी रफ्तार लगभग 70 किमी प्रति घंटे की होती हैं। वहीँ ये 56 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से लगातार 10 किमी से भी अधिक दूरी तक दौड़ सकता है जबकि चीता इसी रफ्तार से लगातार 1 किमी भी नही दौड़ सकता।

13. विश्व का सबसे पुराना कुत्ता कौन सा है? पूरी दुनिया में कुत्तों की सबसे पुरानी प्रजाति सालुकी है। इस breed के कुत्ते का जीवाश्म 329BC पुराना है। प्राचीन मिश्र के जमाने में इसे पसंदीदा पालतू पशु के रूप में देखा जाता था। कहा जाता है की यह प्रजाति यमन के प्राचीन शहर सलूक से आया था और शायद इसी वजह से इसका नाम सालुकी पड़ा।

14. कुत्ते के गले में कांटेदार पट्टा डालने का चलन मिश्र के ज़माने से है उस समय शिकारी जानवरों से कुत्तों को बचाने के लिए ऐसा किया जाता था। आज भी इसे एक फैशन के रूम में उपयोग किया जाता है।

15. जानकारों के अनुसार कुत्ते लगभग 1000 शब्दों को सीख सकते हैं।

16. इन्हें गिनती गिनना और छोटी-छोटी गणितीय समस्याओं को हल करना भी सिखाया जा सकता है।

17. बसेंजी कुत्तों की इकलौती ऐसी प्रजाति है जो भौंक नही सकती। 

18. पिल्ले के मुंह में 28 दांत होते हैं जबकि वयस्क कुत्तों के 42 दांत होते हैं।

19. कुत्तों के पिल्ले पहले चार से पांच महीनों में अपने शरीर का आधा वजन बढ़ा लेते हैं। बाकी के आधे वजन को हासिल करने के लिए एक वर्ष या उससे अधिक समय लग सकते हैं।

20. एक कुत्ते का जीवनकाल 10 से 14 साल तक का हो सकता है।

21. पिल्ले जब पैदा होते हैं तो वे अंधे, बहरे और बिना दांत वाले होते हैं।

22. कुतिया अपने बच्चों को जन्म से पहले 9 महीने अपने कोख में रखती है।

23. जन्म के 12 से 24 महीनों के अंदर में ये पूरी तरह से अपने आकार में आ जाते हैं।

24. सामान्यतः यह देखा गया है की बड़ी प्रजाति के कुत्तों का जीवनकाल छोटी प्रजाति के मुकाबले कम होती है।

25. इनके शरीर का पसीना इनके पंजों से बाहर निकलता है।

26. यह जानकर आप हैरान हो सकते हैं, कुत्तों को इस तरह से प्रिशिक्षित किया जा सकता है की वे इंसानों शरीर में कैंसर और अन्य प्रकार की बिमारियों का पता लगा सकते हैं। 

27. कुत्ते शाकाहारी और मांसाहारी दोनों होते हैं ये फल, सब्जियां और मांस भी खाते हैं।

28. कुत्तों की दृष्टी भोर (सुबह) और संध्याकाल में सबसे अधिक होती है।

29. बाइबिल में कुत्तों का जिक्र 35 बार किया गया है।

30. कुत्तों को समय का भी एहसास होता है और वे खाने, टहलने जैसे अपने दिनचर्या के समय को याद रखते हैं।

31. इनके सुनने की क्षमता मनुष्य की तुलना में 4 गुना अधिक होती है।

32. कुत्तों और बिल्लियों के पानी पिने का तरीका एक जैसा होता है।

33. इन्हें अँधेरे में हमसे बेहतर दिखाई देता है और ये परछाइयों को आसानी से देख लेते हैं।

34. आपका डॉग आपको सूंघकर आपकी भावनाओं का पता लगा सकता है, आप खुश हों या दुखी इन्हें पता चल जाता है।

35. कुत्ते को इंसान का सबसे अच्छा और वफादार दोस्त माना जाता है और इस दोस्ती का इतिहास बहुत ही पुराना है।

हमें उम्मीद है की आपको यह कुत्तों के बारे में जानकारी (Dog information in Hindi) पसंद आई होगी आप इसे कुत्ते पर निबंध (Essay on dog in Hindi) लिखने के लिए भी कर सकते हैं।
Read More

बंदर के बारे में रोचक जानकारी - About Monkey in Hindi

about-monkey-in-hindi-essay
आज हम आपको बन्दर के बारे में दिलचस्प जानकारी देने जा रहे हैं जिनमे से कुछ तथ्य ऐसे भी होंगे जो आपको हैरान कर सकते हैं जैसे हम सब जानते हैं की बन्दर एक बुद्धिमान जानवर है लेकिन क्या आपको पता है ये गणितीय गणनाएं भी कर सकते हैं। नही न! तो चलिए जानते हैं बन्दर से जुड़े कुछ रोचक जानकारियों के बारे में। आप इन जानकारियों और sentences का उपयोग बन्दर पर निबंध (essay on monkey in Hindi) लिखने के लिए भी कर सकते हैं।

बन्दर के बारे में जानकारी - Information About Monkey in Hindi

1. आपस में बातचीत करने के लिए बंदर अपने चेहरे के हाव-भाव, शरीर के हरकतों और आवाजों का उपयोग करते हैं।

2. पेड़, घास के मैदान, पहाड़, जंगल और ऊंचे मैदान सबसे आम जगह हैं जहाँ बंदर रहना पसंद करते हैं।

3. दुनियाभर में बंदर की लगभग 264 प्रजातियाँ पायी जाती हैं।

4. बंदरों को मुख्यतः दो श्रेणियों में विभाजित किया गया है:

  • पुरानी दुनिया के बन्दर (Old world monkey): ऐसी प्रजातियाँ जो एशिया और अफ्रीका में पाए जाते हैं ओल्ड वर्ल्ड मंकी की श्रेणी में आते हैं।
  • नयी दुनिया के बन्दर (New world monkey): अमेरिका में पाए जाने वाले बंदरों को न्यू वर्ल्ड मंकी कहा जाता है।
5. धरती पर बन्दर लगभग 50 लाख साल से मौजूद हैं।

6. मकड़ी बंदर (स्पाइडर मंकी) के पूँछ इतने मजबूत होते हैं की इससे अपने शरीर का पूरा वजन उठा सकते हैं।

7. इनकी सभी प्रजातियों में से Howler monkey की आवाज़ सबसे तेज होती है जिसे 3 मील की दूरी से भी सुना जा सकता है।

8. बन्दर और मदारी की कहानी आपने जरुर सुनी होगी, हो सकता है आपने देखा भी, सर्कसों में बंदरों का उपयोग मनोरंजन के लिए किया जाता है।

9. कई लोग बन्दर को पालते भी हैं और बंदर भी अपने मालिक के प्रति वफादार और करीबी होते हैं। हालही में उत्तरप्रदेश के फतेपुर में एक अजीब से घटना देखी गयी जहाँ मालिक की मौत के तुरंत बाद बंदर ने भी अपने प्राण त्याग दिए थे और दोनों का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया।

10. हर साल 14 दिसंबर को बन्दर दिवस (Monkey Day) के रूप में मनाया जाता है।

11. बन्दर एक मात्र ऐसा जानवर है जो हम इंसानों की तरह केले को तरह छीलकर खाता है।

monkey facts in hindi

बन्दर पर निबंध - Monkey Essay in Hindi 

12. दुनिया की सबसे तेज बन्दर की प्रजाति को Patas Monkey कहा जाता है जो की जमीन पर 55 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकते हैं।

13. मलेशिया और थाईलैंड में नारियल के पेड़ से नारियल तोड़ने के लिए बंदरों को प्रशिक्षित किया जाता है।

14.आपको जानकर हैरानी होगी की जापान में एक ऐसा रेस्टोरेंट भी है जहाँ पर बंदरों को वेटर की उपयोग किया जाता है।

15. बंदरों की कुछ प्रजातियां रंगों को देख सकती हैं, जबकि कुछ प्रजाति ऐसे भी हैं जो केवल काले और सफेद रंग देख पाते हैं।

16. बंदर की उम्र कितनी होती है? एक बंदर की उम्र प्रजातियों के आधार पर 10 से 50 वर्ष तक हो सकती है।

17. चार्ल्स डार्विन ने बताया था की हमारे पूर्वज बन्दर थे और समय के साथ शारीरिक और मानसिक बदलाव होता गया और बाद में हम इन्सान बन गये।

10 lines About Monkey in Hindi

18. क्या आपको पता है बन्दर और इन्सान के डीएनए 98% आपस में मिलते हैं।

19. बंदर की सबसे बड़ी प्रजाति का नाम मैनड्रिलस स्फिंक्स  है जो की 1 मीटर (3.3 फीट) लम्बे और 36 किलोग्राम  वजन वाले होते है।

20. Pygmy Marmoset प्रजाति के बंदर दुनिया के सबसे छोटे बंदर होते हैं जिनका वजन महज 100 ग्राम होता है और इनका आकार 5 से 6 इंच होता है।

21. बन्दर की ज्यादातर प्रजातियाँ पेड़ों पर रहती हैं लेकिन कुछ प्रजाति ऐसे भी हैं जो जमीन पर रहना पसंद करते हैं जैसे बबून।

22. ये सामाजिक प्राणी हैं और हमेशा झुंड में रहना पसंद करते हैं ये जहाँ भी जाते हैं समूह में रहते हैं इनके झुण्ड में हजारों की संख्या में बंदर हो सकते हैं।

23. बंदर सर्वाहारी होते हैं। प्रजातियों के आधार पर इनके खाने में फल, फूल, पत्ते, बीज, शहद, से लेकर अंडे, कीड़े और सरीसृप जैसी मांसाहारी चीजें भी हो सकतीं हैं।

24. मादा बन्दर के गर्भ धारण की अवधि 5 महीने से 8 महीने तक हो सकती है। ज्यादातर मादा एक बार में केवल एक ही बच्चे पैदा करती है।

25. अंतरिक्ष में जाने वाला अल्बर्ट-II पहला बंदर था। उसे 14 जून, 1949 को चन्द्रमा पर ले जाया गया था।

26. हिन्दू और बौद्ध धर्म में बंदरों का अपना एक खास महत्व है। बंदर को भगवान हनुमान से जोड़कर देखा जाता है।

27. बंदरों की उछल-कूद देखने में तो सबको अच्छा लगता है लेकिन कई बार ये मुसीबत भी पैदा कर देते हैं, ये किसानो की फसलों को बर्बाद भी कर देते हैं। कई स्थानों में इनसे निपटने के लिए इन्हें पकड़ा भी जाता है।

28. नर बन्दर मादा बंदरों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए अपने पेशाब को अपने शरीर पर लगा लेता है।

29. वैज्ञानिको का कहना है की उन्होंने ने मादा बन्दर को अपने बच्चों को दांत साफ़ करना सिखाते हुए देखा है।

30. बंदर के पूँछ की नोक बहुत ही संवेदनशील होती है इससे चीजों को छूकर महसूस किया जाता है।

हमें उम्मीद है की आपको इस आर्टिकल में दिए गये बन्दर की जानकारी और निबंध  (about monkey in Hindi essay)  पसंद आये होंगे। आप अपनी राय नीचे कमेंट में जरुर बताएं।
Read More

घोड़े के बारे में 40 दिलचस्प जानकारी - Information About Horse in Hindi

essay-horse-information-hindi

आज हम आपको घोड़े के बारे में जानकारी (Horse information in Hindi) देना चाहते हैं, जो की बहुत ही रोचक और दिलचस्प हैं इनमे से कुछ जानकारियाँ ऐसी भी हैं जो आपको हैरान कर सकते हैं। आप इन जानकारियों को घोड़े पर निबंध (Essay on Horse in Hindi) लिखने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।

घोड़े के बारे में रोचक जानकारी - Essay & Information About Horse in Hindi

1. धरती पर मौजूद सभी स्तनपायी जानवरों की तुलना में घोड़े की ऑंखें सबसे बड़ी होती हैं।

2. घोड़े की ऑंखें उनके सर के अगल-बगल होती हैं यही वजह है की इनकी देखने की क्षमता 360 डिग्री है।

3. ये एक ही समय में दो अलग-अलग जगहों पर देख सकते हैं।

4. पूरी दुनिया में घोड़े के 350 से भी अधिक नस्लें हैं।

5. ये बहुत ही रहस्यमयी बात है जिसे जानकर आप हैरान हो सकते हैं। घोड़े की सबसे पुरानी नस्ल अरेबियन नस्ल है और विशेषज्ञों के अनुसार ये मिस्र के पिरामिड काल यानी लगभग 4500 साल से मौजूद हैं।

6. घोड़ों के झुण्ड में सभी घोड़े एकसाथ नही लेटते हैं उनमे से कुछ घोड़े हमेशा खड़े ही रहेंगे ताकि वे आसपास के सम्भावित खतरे पर नजर रख सकें।

7. ये खड़े होकर और लेट कर दोनों तरह से सो सकते हैं।

8. माना जाता है की इनकी याददाश्त बहुत तेज होती है और इस मामले में ये हाथी से भी अधिक तेज होते हैं।

9. एक वयस्क घोड़े के मस्तिष्क का वजन लगभग 22 औंस का होता है, जो की मानव मस्तिष्क के वजन से लगभग आधा होता है।

10. घोड़े कभी उल्टी नहीं कर सकते।

11. घोड़े के दांतों का आकार उनके मस्तिष्क के आकार से बड़े होते हैं।

12. आपने तस्वीरों में घोड़े को हँसते हुए तो देखा ही होगा लेकिन सच तो यह है की ये खुश होकर नही हँसते हैं दरअसल ऐसा करके ये बेहतर तरीके से सूंघने की कोशिश कर रहे होते हैं।

13. एक घोडा एक दिन में लगभग 100 लीटर पानी पी जाता है।

14. आमतौर पर घोड़े जहाँ देख रहे होते हैं उनके कान भी उसी दिशा में होते हैं लेकिन यदि उनके कान और आँख अलग-अलग दिशा में हों तो समझ लीजिये की वे दो अलग-अलग जगह पर देख रहे हैं।

15. इनके शरीर में पित्ताशय की थैली नही होती है।

16. घोड़े के प्रत्येक कान में 16 मांसपेशियां होती हैं, जिससे इसे वे 180 डिग्री तक घुमा सकते हैं।

17. एक घोड़े के दिल का वजन लगभग 4 से 5 किलो होता है।

18. किसी घोड़े को ठण्ड लगी है या नही यह कैसे पता लगायें? यह काम बहुत ही आसान है, अगर उनके कान ठन्डे हैं तो इसका मतलब यह है की घोड़े को ठण्ड लग रही है।

19. क्या आप जानते हैं? पालतू घोड़े की केवल एक ही प्रजाति है, लेकिन इसके लगभग 400 अलग-अलग नस्लें हैं जिन्हें रेसिंग और अन्य कामो के लिए प्रशिक्षित किया जा सकता है।

20. घोड़े के खुर उसी प्रोटीन से बने होते हैं जोकि इंसानों के बाल और नाख़ून में पाए जाते हैं।

21. एक घोड़ा रात में इंसान से बेहतर देख सकता है।

22. हालांकि, एक घोड़े को प्रकाश से अंधेरे और अंधेरे से प्रकाश में जाने पर अपनी आँखों को adjust करने में इंसान की तुलना में अधिक समय लगता है।

23. घोड़े के मुह में एक दिन में लगभग 10 गैलन लार पैदा होते हैं।

24. एक घोड़े के खुर को फिर से पूरी तरह से उगने में 9-12 महीने लगते हैं।

25. घोडा एक सामजिक प्राणी है ये अकेले रहना पसंद नही करते हैं। साथी की मृत्यु हो जाने पर ये शोक मानते हैं।

26. घोड़े के कान, नाक और चेहरे के हाव-भाव से आप उसके मूड का पता लगा सकते हैं।

27. कहा जाता है की ‘ओल्ड बिली’ नाम का 19 वीं सदी का घोड़ा 62 साल का था।

28. घोड़े आपस में बात करने के लिए अलग-अलग तरह की आवाजों का उपयोग करते हैं।

Basic Information About Horse in Hindi

29. घोड़े की आयु कितनी होती है? इनकी उम्र लगभग 25 से 30 साल होती है।

30. घोड़े पैदा होने के कुछ घंटों बाद दौड़ना शुरू कर देते हैं।

31. एक घोड़े के दिल का वजन लगभग 4 से 5 किलो होता है।

32. घोड़े की स्पीड कितनी होती है? घोड़े की अधिकतम स्पीड 88 किलोमीटर नापी गयी है।

33. इनके शरीर में 205 हड्डियाँ होतीं हैं।

34. घोड़ा क्या खाता है? यह एक शाकाहारी जानवर है जो की पौधे, पत्तियां, फल, सब्जियां आदि खाता है।

35. घोड़े मीठे स्वाद वाली चीजों को खाना ज्यादा पसंद करते हैं, खट्टी और कडवी चीजों से दूर रहते हैं।

36. पुरुष और मादा घोड़े के दांतों की संख्या में अंतर होता है। नर घोड़े के मुहं में 40 दांत होते हैं जबकि मादा के पास केवल 36 दांत होते हैं।

37. दुनिया के सबसे छोटे घोड़े की ऊंचाई मात्र 14 इंच है, न्यू हैम्पशायर के इस पोनी घोड़े को आइन्स्टाइन नाम दिया गया है।

38. क्या आपको पता है? घोड़े को नापने के लिए हाथ का उपयोग किया जाता है। जहाँ एक हाथ का मतलब 4 इंच होता है।

39. भारत में घोड़ों की कई नस्लें पाई जाती हैं जिनमे से मुख्य नस्लों के नाम कुछ इस प्रकार हैं:
  • मारवाड़ी घोड़ा : यह राजस्थान के मारवाड़ इलाके में पाए जाते हैं। इनके कान मुड़े हुए होते हैं और यह उनकी खास पहचान है। ये अपने कानो को 180 डीग्री में मोड़ सकते हैं। इनका आकार 14 से 16 हाथ होता है।
  • काठियावाड़ी घोड़ा: इसकी जन्मस्थली गुजरात है। इसकी औसत ऊंचाई 147 cm यानि 14.2 हाथ होती है। इस नस्ल में काले रंग के घोड़े नही पाए जाते। भारत के कई स्थानों में सेना और पुलिस इसे घुड़सवारी के लिए उपयोग करती है।
  • स्पीती नस्ल: यह हिमाचल प्रदेश के पहाड़ी इलाके में पाए जाते हैं इसका नाम स्पीती घाटी पर रखा गया है। इनकी ऊँचाई अधिकतर 127 से.मी. होती है।
  • ज़नस्कारी: यह जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में बहुतायत रूप से पाए जाते हैं। ये ऊंचाई वाले इलाके में सामान ढोने के लिए बहुत उपयोगी हैं।
  • मणिपुरी नस्ल: असम और मणिपुर के क्षेत्रों में ये नस्ल पाए जाते हैं। इस नस्ल को विशेष तौर पर पोलो खेलने के लिए ब्रीड किया गया था।
40. मंगोलिया का Przewalski horse एक मात्र जंगली घोड़े की नस्ल है जो की अभी तक जीवित है।


हमें उम्मीद है आपको घोड़े के बारे में जानकारी (Information About Horse in Hindi) पढ़कर अच्छा लगा होगा। आप चाहें तो इसे घोड़े पर निबंध (Essay on horse in Hindi)लिखने के लिए भी उपयोग कर सकते हैं।
Read More

गोवा के बारे में 22 रोचक जानकारी - Information About Goa in Hindi

Information About Goa in Hindi

गोवा के बारे में जानकारी - Information About Goa in Hindi

1. गोवा भारत का सबसे छोटा राज्य है जिसका आकार केवल 3702 वर्ग किलोमीटर है।

2. यह राज्य सबसे छोटा जरुर है लेकिन प्रति व्यक्ति आय के मामले में यह सबसे अमीर राज्यों में से एक है। आंकड़ों के अनुसार यहाँ सभी भारतीय राज्यों की तुलना में प्रति व्यक्ति आय सबसे अधिक है।

3. गोवा का समुद्री बीच और यहाँ मिलने वाला सस्ता शराब बहुत ही प्रसिद्ध है।

4. क्या आपको पता है? गोवा में 7000 से भी अधिक पंजीकृत बार हैं जहाँ से आप शराब खरीद सकते हैं।

5. आपको जानकर बड़ी हैरानी होगी की गोवा में दो स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है, एक 15 अगस्त को भारत के स्वतंत्रता दिवस के रूप में और दूसरा 19 दिसम्बर को गोवा मुक्ति दिवस के रूप में मनाया जाता है।

6. दरअसल, सन 1947 में भारत के आजाद होने के बाद भी गोवा भारत का हिस्सा नही था इसे पुर्तगालियों ने अपने कब्जे में ले रखा था।

7. पुर्तगालियों ने सन 1510 से 1961 तक यानि 451 सालों तक गोवा में राज किया था।

8. गोवा की आजादी की लड़ाई में राम मनोहर लोहिया का बहुत बड़ा योगदान था इसके लिए उन्हें जेल भी जाना पड़ा था, उनपर 5 साल के लिए गोवा आने से प्रतिबंध लगा दिया गया था।

9. 19 दिसम्बर सन 1961 में भारतीय सशस्त्र सेना द्वारा ऑपरेशन चलाया गया जिसे 'गोवा मुक्ति संग्राम' या 'गोवा मुक्ति आन्दोलन' भी कहा जाता है इसे ऑपरेशन विजय नाम दिया गया था।

10. इस सैन्य कार्रवाही में थलसेना, जलसेना और वायुसेना तीनो ने भाग लिया था।

11. इस जबरदस्त कार्रवाही का परिणाम यह हुआ की मात्र 36 घंटे के अंदर पुर्तगाल के गवर्नर जर्नल वसालो इ सिल्वा ने उस समय के भारतीय सेना प्रमुख पीएन थापर के सामने समर्पण कर दिया।

12. पुर्तगालियों से आजाद होने के बाद सन 1987 में गोवा को भारत का राज्य घोषित कर दिया गया।

13. क्या आप जानते हैं? 1961 से पहले गोवा में पैदा होने वाले व्यक्ति के पास दोहरी नागरिकता मिली हुई है वे पुर्तगाल और भारत दोनों की नागरिकता हासिल है।

14. यहाँ 450 साल पुरानी डेड बॉडी भी है जो की अपने आप में रहस्यमय है क्योंकि सैकड़ों सालों बाद भी यह सड़ी नही है दरअसल यह सेंट फ्रांसिस जेवियर की बॉडी है जोकि गोवा में पणजी के बेसिलिका ऑफ बॉम जीसस चर्च में सन 1553-54 से रखी हुई है।

15. गोवा राज्य की आमदनी का मुख्य हिस्सा पर्यटन उद्योग से आता है।

16. क्या आप जानते हैं? मशहूर पार्श्व गायिका लता मंगेशकर और आशा भोंसले जी के पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर गोवा के ही निवासी थे वे गोवा के मंगेशी नाम के गाँव में पैदा हुए थे।

17. गोवा में कितने beach हैं? उत्तर गोवा और दक्षिण गोवा दोनों को मिलाकर यहाँ लगभग 50 beaches हैं।

18. अगर हम गोवा के कुछ famous beaches के बारे में बात करें तो ये कुछ इस प्रकार हैं:

  • बागा बीच 
  • कलंगूट
  • सिंकेरियन बीच
  • पणजी बीच
  • मिरामार
  • कोलवा बीच 
  • पालोलेम बीच
  • बागाटोर
  • अंजुना 
  • दोनापौला
  • कोला 
  • मोबोर 
19. एशिया का सबसे पुराना मेडिकल कॉलेज कहाँ है? अगर कोई आपसे यह सवाल पूछे तो आपको यह जानकारी होना चाहिए की गोवा में स्थित गोवा मेडिकल कॉलेज एशिया का सबसे पहला मेडिकल कॉलेज है जिसे 18वीं शताब्दी में पुर्तगाल शासन द्वारा बनाया गया था।

20. सबसे पहला प्रिंटिंग प्रेस भी गोवा के सेंट पॉल कॉलेज में चालू किया गया था और आपको जानकर हैरानी होगी की यह भी एशिया का सबसे पहला प्रिंटिंग प्रेस है।

21. यही नही भारत देश का सबसे पहला इंग्लिश मीडियम स्कूल St Joseph's High School भी गोवा राज्य में ही बना था।

22. उत्तर गोवा में एक गुफा है जिसे पांडव गुफा कहा जाता है क्योंकि ऐसा माना जाता है की महाभारत काल में निर्वासन के दौरान पांडव इसी गुफा में रहा करते थे।

आपको यह गोवा के बारे में रोचक जानकारी - Information About Goa in Hindi कैसी लगी हमें जरुर बताएं।
Read More

ऊंट के बारे में 35 दिलचस्प जानकारी - Information About Camel in Hindi

information about camel in hindi

आज हम रेगिस्तान के जहाज ऊंट के बारे में जानकारी (information about camel in Hindi) देने वाले हैं। इन रोचक और मजेदार तथ्यों का उपयोग कर आप ऊंट पर निबंध भी लिख सकते हैं।

ऊंट के बारे में 35 रोचक तथ्य - Information About Camel in Hindi

1. ऊंट बिना पानी पिए बहुत लम्बे समय तक रह सकते हैं। हालाँकि ये जब पानी पिते हैं तो एक बार में 150 लीटर पी जाते हैं।

2. ऊंट के कूबड़ में क्या संचित होता है? माना जाता है की ऊंट अपने शरीर का सारा पानी अपनी कूबड़ में जमा करके रखता है, लेकिन यह बात गलत है। दरअसल इनके कूबड़ में पानी नही बल्कि वसा जमा होता है जो की उनके शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है।

3. ऊंटों को "रेगिस्तान का जहाज" भी कहा जाता है क्योंकि उनका उपयोग रेगिस्तान में वस्तुओं को लाने और ले जाने के लिए किया जाता है।

4. इनके कूबड़ में जमा वसा जरुरत पड़ने पर भोजन और पानी के रूप में बदल जाता है।

5. ऊंट के पलकों के तीन परत होते हैं जो उन्हें रेगिस्तान के धूलों से बचाते हैं।

6. इनके देखने और सुनने की क्षमता भी अधिक होती है।

7. ऊंट की ऊंचाई कितनी होती है? इनकी ऊंचाई 7 फीट तक हो सकती है।

camel information in hindi

8. ऊंट एक शांत प्रजाति का जानवर है शायद यही वजह है की अरब संस्कृतियों में ऊंट को धैर्य, सहनशीलता और धीरज का प्रतीक माना गया है।

9. ऊंट दिखने में बड़े धीमे होते हैं लेकिन ये 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकते हैं हालांकि इस रफ्तार से ये अधिक समय तक नही दौड़ पाते लेकिन फिर भी 40 किमी की गति से आराम से चल सकते हैं।

10. अरेबियन ऊंट के पीठ पर केवल एक कूबड़ होता है जबकि एशियाई ऊंटों के शरीर में दो कूबड़ होते हैं।

11. जब ये पैदा होते हैं तो इनके कूबड़ नही होते हैं लेकिन उम्र बढ़ने के साथ-साथ इनके कूबड़ के आकार बढ़ते जाते हैं और ठोस होते जाते हैं।

Facts for Essay on Camel in Hindi

12. ऊंट क्या खाता है? ऊंट शाकाहारी होते हैं और पत्ते, पौधे, फल-फूल आदि खाते हैं।

13. ये 400 किलोग्राम का वजन उठाकर चल सकते हैं।

14. ऊंट में गर्भावस्था 9-14 महीने तक की होती है, यह अवधि भोजन की उपलब्धता पर भी निर्भर करती है।

15. ऊंट के बच्चे पैदा होने के कुछ घंटों बाद चलना शुरू कर देते हैं।

16. एक ऊंट का जीवनकाल 40 से 50 साल तक का होता है।

17. ऊंट कभी भी बेवजह नही थूकते हैं, इन्हें जब खतरा महसूस होता है तब इसे सुरक्षा तंत्र के रूप में उपयोग करते हैं।

18. एक ऊंट के नाक बड़े अद्भुत होते हैं। वे जल वाष्प बनाने का काम करते हैं जिसे जरुरत होने पर शरीर में वापस लाया जा सकता है।

19. ऊंट अपने पैर के विशेष डिजाइन के कारण रेत पर आसानी से चल पाते हैं। ऊंट के पैर में दो पंजे होते हैं जो जमीन पर रखने से फैलते हैं और रेत में धंसते नही हैं।

20. ये पथरीले रेगिस्तान पर चलने से बचते हैं क्योंकि इससे उनके पैरों को नुकसान पहुँचता है।

21. एक ऊंट आमतौर पर एक दिन में 40 किलोमीटर की यात्रा करता है।

22. आमतौर पर कांटेदार टहनियों को अन्य जानवर खाना पसंद नही करते लेकिन इसे ऊंट बड़े आराम से खा सकते हैं इससे इनके मुंह पर कोई चोंट नही लगती है।

23. इनके मुंह दो भाग में बंटे होते हैं ताकि ये अपने भोजन को प्रभावी तरीके से चबा कर खा सकें।

24. हम इंसानों के शरीर से अगर 15% पानी कम हो जाये तो हम dehydrated हो जाते हैं लेकिन ऊंट के शरीर का 25% पानी खत्म हो जाए तो भी वे डीहाइड्रेट नही होते हैं।

10 Sentences about camel in Hindi

25. इनके शरीर का तापमान 34 (रात के दौरान) से लेकर 41 डिग्री सेल्सियस (दिन के दौरान) तक होता है। 41 डिग्री सेल्सियस से अधिक तापमान बढ़ने पर उन्हें पसीना आने लगता है।

26. ऊंट के कान में ढेर सारे बाल होते हैं। जो की रेत और धूल को उनके कानों से दूर रखते हैं। कान और आंखों के अलावा, उनके नथुने रेत को दो सांसों को बीच में बंद करके प्रवेश करने से रोकते हैं।

27. इनके शरीर के फर सूरज की रौशनी को परावर्तित कर देते हैं यही वजह है की गर्म रेगिस्तान में भी ऊंट ज्यादा गर्म नही होते हैं।

28. ऊंटनी के दूध में गायों के दूध की तुलना में अधिक विटामिन सी और आयरन होता है साथ ही इसमें वसा भी कम होती है, और यह आपके लिए शरीर के लिए बहुत अच्छा है इसलिए अगर आपको मौका मिले तो ऊँटनी का दूध जरुर पियें।

29. अगर ऊंटनी के दूध का मिल्कशेक पीना हो तो आप अबू धाबी जा सकते हैं।

30. केन्या में जिन इलाकों में पुस्तकालय की सुविधा नही है वहां कैमल मोबाइल लाइब्रेरी का उपयोग होता है। यानि ऊंटों का उपयोग उन क्षेत्रों में किताबें लेजाने के लिए किया जाता है।

31. यूएई में हर साल अल-ढफरा ऊंट महोत्सव होता है। यहाँ ऊँटों के बीच सौंदर्य प्रतियोगिता होती है, जिसमे हजारों ऊंटों को खिताब के लिए प्रतिस्पर्धा करते देखा जा सकता है।

32. इतिहास में ऊँटों का उपयोग (विशेषकर रेगिस्तानी क्षेत्रों में) युद्ध के दौरान किया जाता था क्योंकि ये पानी और भोजन के बिना लंबी दूरी की यात्रा करने में सक्षम हैं।

33. ऊंट एक सामाजिक प्राणी है जो 30 ऊँटों का झुण्ड बनाकर एक साथ भोजन और पानी की तलाश में रेगिस्तानों में घूमते हैं।

34. ऊंट का वजन कितना होता है? अगर वजन की बात करें तो यह 600 किलो तक हो सकते हैं।

35. ऊंट का पेशाब ज्यादा तरल नही होता यह किसी सिरप की तरह मोटी होती है।

आपको ये जानकारियां (Information About Camel in Hindi) पढ़कर कैसा लगा हमें जरुर बताएं। हमें उम्मीद है की ऊंट के बारे में ये 35 lines और sentences आपको ऊंट पर निबंध (Essay on Camel in Hindi) लिखने में जरुर मदद करेंगे
Read More

रोचक जानकारी पायें सीधे अपने ईमेल पर!