क्या आपने कभी सोचा है की नोटों पर गाँधी जी की तस्वीर आखिर आई कहाँ से

History of Gandhi picture on Indian currency

महात्मा गाँधी जी के बारे में कौन नही जानता उनके बारे में हम बचपन से कई सारी कहानियां सुनते आ रहें हैं | देश के प्रति गाँधी जी के योगदान को देखकर उन्हें राष्ट्रपिता का दर्जा दिया गया है |

देश के लगभग सभी हिस्से में चौक-चौराहों में उनकी प्रतिमायें आपको देखने को मिलेंगी यहाँ तक की हम सभी शुरुआत से ही हमारी करेंसी नोटों पर गाँधी जी की मुस्कुराती हुई तस्वीर देखते आ रहे हैं |

लेकिन क्या आपने कभी इस बारे में सोचा की की नोटों पर लगी गाँधी की यह तस्वीर आखिर कहाँ और किसने खींची थी? 

कई लोगों का यह मानना है की यह तस्वीर किसी कार्टूनिस्ट ने बनाई है जबकि यह बात बिलकुल गलत है | इस फोटो को कैमरे से ही खींचा गया है|

नोट पर लगे महात्मा गाँधी की तस्वीर कहाँ खींची गयी थी?



Gandhi photo currency

यह तस्वीर 1946 में एक अज्ञात फोटोग्राफर द्वारा Viceroy House जो की अब राष्ट्रपति भवन कहलाता है के सामने ली गयी थी |

जिसमे महात्मा गाँधी एक ब्रिटिश नेता Fredrick William Lawerence के साथ खड़े हुए हैं और किसी अनजान व्यक्ति की तरफ देख कर मुस्कुरा रहे हैं |

1987 में जब पहली बार 500 रूपये की नोट शुरू हुआ तब इस फोटो को क्रॉप करके watermark के रूप में उपयोग किया गया 

1996 से पहले Indian currencies पर गाँधी की जगह अशोक स्तम्भ की तस्वीर लगाईं जाती थी |

बाद में 1996 में रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने यह फैसला लिया 5 रु. से लेकर 1000 तक की जितनी भी currencies हैं सभी पर इस फोटो को एक ट्रेड मार्क की तरह उपयोग किया जाएगा |