मधुमक्खी के बारे में 30 रोचक जानकारी - About Honey Bee in Hindi

madhumakkhi-honey-bee-in-hindi

मधुमक्खी के बारे में जानकारी - About Honey Bee in Hindi

1. लगभग 500 ग्राम शहद बनाने के लिए मधुमक्खी को 90000 मील यानि धरती के तीन बार चक्कर लगाने के बराबर उड़ना पड़ता है।

2. मधुमक्खियाँ 25 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकती हैं।

3. मधुमक्खियों की एक कॉलोनी में 50000 से 60000 मधुमक्खियाँ होती हैं जिनमे से एक रानी मधुमक्खी होती है।

4. शहद निकालने के लिए मधुमक्खी को एक बार में 50 से 100 फूलों पर मंडरा कर रस निकालना होता है।

5. ये नृत्य के जरिये आपस में बातचीत करती हैं।

6. रानी मधुमक्खी की उम्र 5 साल तक होती है और यह एक मात्र मधुमक्खी है जो अंडे देती है।

madhumakkhi ka chatta


7. एक छत्ते में मधुमक्खी कितने प्रकार के होते हैं? हर छत्ते में तीन प्रकार की मधुमक्खियाँ होती हैं: एक मादा मक्खी होती है जिसे रानी भी कहते हैं दूसरा नर मक्खी और तीसरा फल-फूलों से रस चूसकर एकत्रित करने वाली श्रमिक मक्खियाँ।

8. नर मक्खी का काम केवल रानी मक्खी को गर्भधारण कराना होता है। जब गर्भधारण हो जाता है तो नर मख्खियों को काम करने वाली मक्खियाँ मार डालती हैं।

9. मधुमक्खी कितने अंडे देती है? गर्मी के दिनों में एक रानी मधुमक्खी हर दिन 2500 अंडे देती है।

10. पुरुष मधुमक्खियों का आकार काम करने वाली मक्खियों से बड़ा होता है लेकिन इनके पास डंक नही होते और ये काम भी नही करते हैं।

11. आयुर्वेद चिकित्सा में शहद को एक उत्तम औषधि माना गया है यह गले की खराश, पाचन सम्बन्धी समस्याएं और त्वचा रोगों में अत्यधिक लाभकारी होता है।

12. इसमें एंटीसेप्टिक के गुण पाए जाते हैं इसलिए इसका उपयोग जलने-कटने, और घावों को भरने में किया जाता है।

13. मधुमक्खी के डंक के जहर का उपयोग कई बीमारियों के उपचार के रूप में किया जाता है, जिसमें गठिया और उच्च रक्तचाप शामिल हैं।

14. शहद एकमात्र ऐसा खाद्य पदार्थ है जिसमें जीवन को बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं।

15. शहद का रंग जितना गहरा होगा, उसमें एंटीऑक्सिडेंट गुणों की मात्रा उतनी ही अधिक होगी।

16. क्या आप जानते हैं? इंसानों के द्वारा मधुमक्खी पालन का काम पिछले 4500 सालों से किया जा रहा है।

17. मधुमक्खियाँ पिछले 15 करोड़ सालों से एक ही तरीके से शहद बनाती आ रहीं हैं।

18. हमारे द्वारा खाए जाने वाला लगभग एक तिहाई भोजन मधुमक्खी के परागण का ही परिणाम है क्योंकि परागण की वजह से ही फूल से फल बनते हैं।

19. मधुमक्खियों की जन्म से ही शहद बनाने की कला नही आती बल्कि यह काम छत्ते में उन्हें पुराने मधुमक्खियों द्वारा सिखाया जाता है।

20. मधुमक्खियाँ प्रति सेकंड 200 बार अपने पंखों को हिलाती हैं।

madhumakkhi-facts-honey-bee-in-hindi

21. मधुमक्खी एकमात्र प्रकार की मक्खी है जो डंक मारने के बाद मर जाती है।

22. मधुमक्खी के शारीर में 2 पेट होते हैं - एक खाने के लिए, और एक फूलों का रस एकत्रित करने के लिए।

23. एक मधुमक्खी अपने पूरे जीवनकाल में केवल 1/12 चम्मच शहद का ही उत्पादन करती है।

24. एक छत्ते में हर साल लगभग 25 से 45 किलो शहद का उत्पादन होता है।

25. ये मक्खियाँ एकमात्र ऐसा कीट है जो मनुष्यों द्वारा खाए जाने योग्य भोजन पैदा करतीं हैं।

26. प्राचीन मिस्र में, लोग शहद से अपने करों का भुगतान करते थे।

27. पाषाण युग की गुफाओं में मधुमक्खी पालन के प्राचीन चित्र मिले हैं।

28. सर्दियों के दौरान, कुछ श्रमिक मधुमक्खियां छत्ते को गर्म रखने का काम करती हैं, जहां वे 35 डिग्री के अनुकूल  तापमान बनाये रखने के लिए अपने शरीर को कंपन करते हैं।

29. मधुमक्खियां अपने पेट पर एक विशेष ग्रंथि में मोम का निर्माण करती हैं, जिसे वे फिर मधु रखने के लिए  मधुकोश बनाने के लिए चबाते हैं।

30. एक श्रमिक मधुमक्खी अपने शरीर के वजन के 80% के बराबर पराग ले जा सकती है।


आपको मधुमक्खी के बारे में ( About Honey Bee in Hindi ) ये जानकारियाँ कैसी लगी? जरुर बताएं।

रोचक जानकारी पायें सीधे अपने ईमेल पर!